IAS Full Form in Hindi ! IAS Ka Full Form Kya Hota Hai

Here we will see what is IAS Full Form in Hindi, who is called IAS. What is the meaning of IAS

IAS Ka Full Form Kya Hota Hai – IAS Full Form in Hindi

 

IAS Full Form in Hindi ! IAS Ka Full Form Kya Hota Hai

IAS Full Form in Hindi क्या होता है ?

 

IAS Full Form Indian Administrative Services

IAS का फुल फॉर्म Indian Administrative Services होता है। IAS को हिंदी में भारतीय प्रशासनिक सेवा कहते है।

भारत सरकार में सबसे सम्मानित एवं प्रतिष्ठित पदों में से एक भारतीय प्रशासनिक सेवा है। संघ लोक सेवा आयोग ( UPSC ) द्वारा इस स्तर पर नियुक्ति होता है। IAS सभी सिविल सेवा की नौकरी में सबसे अधिक मांग है, हम यहां इसके पूर्ण रूप और संबंधित जानकारी के साथ इसके विवरण पर चर्चा कर रहे हैं।

IAS को भारतीय प्रशासनिक सेवा कहते है। UPSC अखिल भारतीय सेवाओं के महत्वपूर्ण भागों में से IAS एक है। सरकार के प्रमुख पदों में आईएएस की नौकरी की योग्यता अपने आप में कानून और व्यवस्था की देखभाल और सुरक्षा के सुनिश्चित देखभाल के लिए बड़ी जिम्मेदारी के साथ आती है।

1922 से भारतीय सिविल सेवा परीक्षा भारत में आयोजित होने लगी है। इसके पहले इलाहाबाद में और उसके बाद दिल्ली में संघीय लोक सेवा आयोग (UPSC ) की स्थापना के साथ अपने कठिनाई और प्रतिस्पर्धा को ध्यान में रखते हुए, परीक्षा स्नातकों के लिए एक बड़ा आकर्षण बना रहा है। आईएएस अधिकारी का पद महत्वपूर्ण और प्रभावशाली होता है , इसमें अधिकारियों को अच्छे भत्तों के साथ अच्छा वेतन और सम्मान भी मिलता है।

IAS Full Form – Indian Administrative Services

⏩⏩⏩ UPSC Official Site

आज के समय हमारे समाज के लगभग सभी विद्यार्थी IAS बनने का सपना एक बार जरूर देखता है। यहाँ पर मै आपको IAS FULL FORM IN HINDI में सब कुछ की जानकारी दूंगा। 

 

G4

SSC Full Form in Hindi

PHD Full Form in Hindi

 

IAS Officer (IAS Full Form in Hindi) क्या होता है ?

भारत में सभी सरकारी अधिकारियों में IAS का ही स्थान महत्वपूर्ण एवं उच्च होता है। IAS अधिकारी के पास बहुत ही शक्ति होती है। जिस कारन IAS (IAS Full Form in Hindi)अधिकारी की जिम्मेदारी भी काफी बढ़ जाती है,और प्रतिष्ठा और सम्मान तो होता ही है। इस परीक्षा में बैठने के लिए सामान्य ग्रेजुएट से लेकर इंजीनियर, डॉक्टर, इत्यादि सभी भाग ले सकते है, लेकिन इसका EXAM बहुत ही कठिन होता है। 

UPSC द्वारा आयोजित All India Services और Central Civil Service के लिए Civil Service Examination (CSE) का एग्जाम होता है। जिसमे अच्छे प्रतिभावान व्यक्ति का चुनाव करना बहुत ही बड़ी जिम्मेदारी होती है। वैसे UPSC कुल 24 सर्विसेज के लिए EXAM करवाती है जिसमें आईपीएस (IPS), आईएएस (IAS), आईआरएस (IRS) भी है।

IAS एग्जाम को पास करने के बाद विद्यार्थी को अलग-अलग तरह का Post दे दिया जाता है, जैसे कि  (DM), (SDM) इत्यादि और भी बहुत सारे पोस्ट होते है, जो की IAS की EXAM पास करने के बाद दिया जाता है। सभी IAS बने OFFICER को अलग अलग जोन में अपने अलग अलग काम पर भेज दिया जाता है। 

CDS Full Form in Hindi IRS Full Form in Hindi
IFS Full Form in Hindi SPG Full Form in Hindi

 

IAS Exam (IAS Full Form in Hindi) के लिए योग्यता क्या होता है?

IAS Exam देने के लिए विद्यार्थी को भारत के नागरिक होना बेहद जरुरी है। 

विद्यार्थी को किसी भी सरकारी मान्यता प्राप्त कॉलेज से अपना ग्रैजुएशन पूरा कर लिया है तो IAS (IAS Full Form in Hindi) की परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते है अगर अभी ग्रेजुएशन फाइनल ईयर में है तब भी आप apply कर सकते है लेकिन शर्त है कि रिजल्ट आने के बाद डॉक्यूमेंट जांच के समय तक आपकी डिग्री मिल जानी चाहिए।

 

IAS Officer के लिए Age Limit क्या है ?

IAS Exam देने के लिए  विद्यार्थी नून्यतम उम्र सीमा 21 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए, और अधिकतम आयु अलग अलग श्रेणियों के लिए अलग-अलग निर्धारित है।

general के लिए अधिकतम आयु-सीमा – 32 Years

OBC के लिए अधिकतम आयु-सीमा -35 Years

SC/ST के लिए अधिकतम आयु-सीमा – 37 Year 

 

पहले से आरक्षण के अलावा, अब Union Public Service Commission ने भारत सरकार द्वारा लागु किया गया अनिवार्य Economically Weaker Section उम्मीदवारों को आरक्षण प्रदान करने के लिए एक नई आरक्षण व्यवस्था Economically Weaker Section(EWS) उम्मीदवारों के लिए सामान्य उम्मीदवारों को शर्तों के साथ गठबंधन किया गया है.

इन सारे Criteria को आप पूरा करते है, तो IAS की Exam में दे सकते है, लेकिन IAS की EXAM देने से पहले आपको  IAS Selection Procedure और Syllabus के बारे में भी अच्छी तरह से जानकारी होनी चाहिए।

 

IAS Officer (IAS Full Form in Hindi) के लिए चयन की जानकारी :-

IAS (IAS Full Form in Hindi) में चयन के लिए आपको मुख्य रूप से तीन EXAM से गुजरना होगा जिसमे सबसे पहले प्रारंभिक परीक्षा होगी यह EXAM सिर्फ क्वालीफाइंग नेचर का होता है, और आप इस परीक्षा को पास कर लेते है तो आपको मुख्य परीक्षा (Mains) के लिए बुलाया जायगा और अगर आप मुख्य परीक्षा को पास कर लेते है, तब आखरी और सबसे महत्वपूर्ण EXAM ( Interview ) होगा।

 प्रारंभिक (Prelims) और मुख्य (Mains)परीक्षाओं के Syllabus क्या होंगे क्योंकि सिलेबस जाने बिना आपके लिए इस परीक्षा में सफलता प्राप्त करना मुश्किल हो सकता है। 

 

IAS EXAM की Syllabus :- Compulsory Subjects For UPSC Exam:-

 Prelims परीक्षा में दो पेपर होंंगे और दोनो पेपर सामान्य अध्ययन के 200 अंको के होंगे यानी कि कुुुल मिलाकर 400 अंको के पेपर होंगे इन दोनों में से 2nd पेपर क्वालीफाइंग पेपर होगा।

 इसमें आपको सिर्फ 33% Marks लाने होंगे और सिर्फ पेपर 1 के Marks के आधार पर आपके प्रारंभिक का कट ऑफ बनेगा अगर आप उस कट ऑफ को पास कर जाते है और पेपर 2 में 33% मार्क लेने में सफल हो जाते है तो आप मुख्य परीक्षा के लिये योग्य बन जाते है।

 

Syllabus- IAS Prelims Paper-1 – 200 Marks

 भारत और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन का इतिहास, भारतीय और वैश्विक भूगोल, राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय वर्तमान घटनाएं, भारत और दुनिया का प्राकृतिक, सामाजिक और आर्थिक भूगोल, भारतीय राजनीति और शासन- संविधान, राजनीतिक प्रणाली, पंचायती राज, सार्वजनिक नीति, अधिकारो के मुद्दे इत्यादि, आर्थिक और सामाजिक विकास,गरीबी, समावेशन, जनसांख्यिकी, सामाजिक क्षेत्र, पर्यावरण पारिस्थितिकी, जैव विविधता और जलवायु परिवर्तन पर ज्वलंत मुद्दे, सामान्य विज्ञान।

 

Syllabus- IAS Prelims Paper-2 – 200 Marks

 बोधगम्यता, पारस्परिक कौशल, संचार कौशल सहित, तार्किक क्षमता और विश्लेषणात्मक क्षमता, निर्णय लेने और समस्या समस्या को विश्लेषण की क्षमता, सामान्य मानसिक योग्यता।, बेसिक संख्यात्मक योग्यता, संख्याएं ,डेटा इंटरप्रिटेशन, चार्ट, ग्राफ, टेबल, आदि।  

 मुख्य परीक्षा का पाठ्यक्रम थोड़ा विस्तार से समझते है। मुख्य परीक्षा में 9 पेपर होते है जिसमें 7 पेपर के Marks अंतिम मेरिट रैंकिंग में जोड़े जाएंगे और बाकी दो पेपर क्वालीफाइंग नेचर के पेपर होंगे 

 

क्वालीफाइंग पेपर में पेपर A और पेपर B नाम से 2 पेपर होंगे।

 पेपर A की जानकारी 

इसमे अपने पसंद की कोई एक भाषा चुन सकते है, पेपर A में कुल मिलाकर 300 मार्क्स होंगे जिसमें से 30% मार्क्स लाना जरुरी है। पेपर A के syllabus इस प्रकार है

 जिसमे आपको एक कहानी मिलेगी उसे आपको पढ़ना और समझना होगा, फिर कुछ प्रश्नो के उत्तर कहानी के आधार पर लिखना होगा। 

   यहाँ पर आपको कोई एक टॉपिक दिया जायेगा, जिस पर आपको लेख लिखना होगा। 

  यहाँ पर आपको सही जगह पर उत्तर लिखना होगा। 

   यहाँ पर आपको छोटा सा निबंध लिखना होगा। 

   यहाँ पर आपको कुछ शब्दों को दूसरे भाषा में लिखना होगा। 

 

पेपर B की जानकारी

 इस पेपर में भी कुल आपको 300 अंक होंगे और पास होने के लिए आपको 25% मार्क्स लाने होंगे। यह पेपर English Language में होगा। पेपर B के syllabus इस प्रकार है।

 अब योग्यता रैंकिंग वाले पेपर्स के बारे में तो IAS के फाइनल चुनाव के लिए मैंस के 9 पेपर्स में से 7 पेपर्स में अच्छा करना बहुत ज्यादा जरुरी होता है। इन 7 पेपर्स के Marks के आधार पर ही रैंकिंग होती  है और तब उनको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता था।

 

Ranking Papers

  250 marks- एक टॉपिक दिया जायेगा जिस पर आपको अपने भाषा में निबंध लिखना होगा। 

   250 मार्क्स – इसमें आपको सामान्य ज्ञान से प्रश्न पूछे जायेंगे। इसमें आपको 5 SUBJECT होंगे। Indian Heritage and Culture, World Geography and History and Society.

   250 मार्क्स- इसमें भी आपको सामान्य ज्ञान से प्रश्न पूछे जायेंगे। social justice and international relations, governance, constitution, politics,  . 

   250 मार्क्स – यहाँ पर भी आपको सामान्य ज्ञान से प्रश्न पूछे जायेंगे. इसका भी सब्जेक्ट अलग होगा।  biodiversity, environment, security and disaster management, technology, economic development . 

   250 मार्क्स – इसमें भी आपको सामान्य ज्ञान से प्रश्न पूछे जायेंगे। 

   250 मार्क्स- यहाँ पर आपको वैकल्पिक विषय से प्रश्न पूछे जायेंगे। 

   250 मार्क्स – यहाँ पर आपको वैकल्पिक विषय से प्रश्न पूछे जायेंगे। 

 IAS में कुल कुल मिलाकर 48 बैकल्पिक विषय होते हैं इन 48 विषयों में से कोई एक SUBJECT आपको चुनना होता है। यहाँ पर दोनों Subject बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण है। और इसी पर आपका चुनाव होता है। 

 अब आपको देखना होगा की आपको किस SUBJECT में रूचि है। 

 
IAS Officer का दायित्व :-
 IAS Officer को अपने क्षेत्र में कार्य करते हुए सरकारी नीतियों को पूर्ण रूप से लागू करना और जनता और सरकार के बीच सामंजस्य बनाते हुए सुचारु रूप से कार्य करना। 
 
IAS Officer का अपना कार्य :- 
  कानून और व्यवस्था के साथ एक मजिस्ट्रेट के रूप में कार्य करना का रखरखा
  राजस्व मामलों में पूर्ण रूप से अदालती कार्यवाही को देखना 
  केंद्र सरकार और राज्य सरकार के नीतियों का पालन करवाना और उसकी निगरानी करना वित्तीय मामलो की देख रेख करना 
  जरुरत के हिसाब से अपना नीति तैयार करना और अपने से उचे अधिकारी से बिचार विमर्श करना 
  सभी मंत्रालयों की नीतियों की समीक्षा करना और पालन करवाना 
 

IAS Officer (IAS Full Form in Hindi) की शक्तियां :-

 पूरे जिले में एक IAS Officer बहुत प्रभावशाली व्यक्ति होता है वह सभी विभाग का मालिक होता है, अपने जिले में। 

➤➤➤ UPSC Apply Online

 

G6

 NEET Full Form in Hindi