IFSC Full Form in Hindi | IFSC क्या होता है ?

What is IFSC Full Form in this post. What is ifsc full form in banking is going to combine all these information

IFSC Full Form in Hindi | IFSC क्या होता है ? 

Table of Contents

IFSC Ka Full Form क्या होता है ?

 

 IFSC Full Form

 Indian Financial System Code

 

दोस्तों शायद आपको भी मालूम होगा की IFSC Full Form – Indian Financial System Code होता है। और इसको हिंदी में भारतीय वित्तीय प्रणाली कोड कहते है ! सभी Bank के पहचान के लिए IFSC Code का प्रयोग किया जाता है। जैसे कोई भी Same बैंक अगर एक ही मोहल्ला या गाँव में है, तो उसका पहचान IFSC कोड से होता है। IFSC Code एक 11 अक्षर का का होता है। IFSC Code को Cheque Book पर अंकित किया जाता है। ताकि पता चले कि किस Branch का Cheque है। IFSC Code का प्रयोग NEFT या RTGS के माध्यम से जब Money Transfer करते है, तो उस समय जरुरत पड़ती है। 

IFSC Full Form in Hindi | IFSC क्या होता है ?

IFSC Code सभी Branch अलग Code होता है। जिसके माध्यम से सुबिधाजनक Online Transfer कर सकते है। IFSC Code को RBI द्वारा उन्ही बैंक को जरी किया जाता है जो Bank या Branch ग्राहक को NEFT, RTGS और IMPS Transaction की सुबिधा देती है। ताकि ग्राहक का पैसा सही खाते पहुँच जाये। 

What is The Meaning of Indian Financial System Code(FISC Full Form)? भारतीय वित्तीय प्रणाली संहिता का क्या अर्थ है?

भारतीय वित्तीय प्रणाली कोड (IFSC Full Form) भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक फ़ंड ट्रांसफ़र (NEFT) प्रणाली में भाग लेने वाली बैंक शाखाओं की पहचान करने के लिए दिया गया एक ग्यारह-वर्ण अल्फ़ान्यूमेरिक कोड है। कोड का उपयोग भारत में बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के बीच इलेक्ट्रॉनिक धन हस्तांतरण की सुविधा के लिए किया जाता है।

IFSC कोड के पहले चार वर्ण बैंक के नाम का प्रतिनिधित्व करते हैं, अगला वर्ण शून्य है, और अंतिम छह वर्ण उस बैंक शाखा का प्रतिनिधित्व करते हैं जिसे कोड सौंपा गया है। IFSC कोड का उपयोग भारतीय वित्तीय प्रणाली में इलेक्ट्रॉनिक धन हस्तांतरण लेनदेन में भाग लेने वाले बैंक और शाखा की पहचान करने के लिए किया जाता है।

How Many Digits are There in the Indian Financial System Code? भारतीय वित्तीय प्रणाली कोड में कितने अंक होते हैं?

भारतीय वित्तीय प्रणाली कोड (IFSC Full Form) में 11 वर्ण होते हैं। पहले चार वर्ण ऐसे अक्षर हैं जो बैंक के नाम का प्रतिनिधित्व करते हैं, अगला वर्ण शून्य है, और अंतिम छह वर्ण बैंक शाखा का प्रतिनिधित्व करने वाली संख्याएँ हैं।

मुंबई में भारतीय स्टेट बैंक की शाखा के लिए IFSC कोड SBIN0000001 हो सकता है, जहाँ “SBIN” बैंक के नाम का प्रतिनिधित्व करता है और “000001” शाखा का प्रतिनिधित्व करता है। IFSC कोड का उपयोग भारत में नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फ़ंड ट्रांसफ़र (NEFT) सिस्टम में भाग लेने वाले बैंकों और शाखाओं की पहचान करने के लिए किया जाता है।

यह भारतीय वित्तीय प्रणाली का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है और इसका उपयोग देश में बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के बीच इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर की सुविधा के लिए किया जाता है।

NRC Full Form

 

How To Get IFSC Full Form: IFSC का Code कैसे प्राप्त करें ?

➧ IFS Code आपके Cheque Booksऔर Account Passbooks पर अंकित रहता है। 

 IFS Code को RBI की Official Website से भी देख सकते है। 

 IFS Code अपने Bank की Website से भी देख सकते है। 

 

IFSC Full Form Indian Financial System Code

 

 HDFC Full Form in Hindi

 SSLC Full Form in Hindi 

 

IFSC Full Form work: IFSC कोड का काम क्या है ?

Indian Financial System Code हर एक Bank की Branch का  Unique Branch Code अलग – अलग होता है। जिससे पहचान करना आसानी होता है। 

Online System में Bank उस Bank की पहचान IFSC के द्वारा करता है, जिसमे Payments NEFT, RTGS, IMPS के माध्यम से Transfers करना होता है। 

Importance of IFSC Full Form: IFSC का महत्व क्या है ?

  IFSC द्वारा Online Money Transfers बहुत ही आसन हो जाता है। 

सभी Bank और Branch का Code अलग होता है, जिससे गलती कम होता है। 

  IFSC द्वारा Online Transfer के माध्यम से Bank जाने की जरुरत भी नहीं होती और ग्राहक के समय की भी बचत होती है। 

  IFSC द्वारा Online Transfer में कागजी कार्रवाई को काम करता है। 

 IFSC द्वारा Online Transfer बहुत ही तेज और Secure होता है। 

 

 RTGS Full Form in Hindi 

IFSC Code of Important Banks: महत्वपूर्ण बैंकों के IFSC Code: –

 Bank of baroda ifsc code-

 Canara bank ifsc code-

 Indian bank ifsc code-

 Punjab national bank ifsc code-

 Bank of india ifsc code-

 Union bank ifsc code-

 Hdfc ifsc code-

 State bank of india ifsc code-

 Pnb ifsc code-

 Icici bank ifsc code-

 Bob ifsc code-

 Corporation bank ifsc code-

 Kotak mahindra bank ifsc code-

 Indusind bank ifsc code-

 Baroda uttar pradesh gramin bank ifsc code-

 

 NCB Full Form in Hindi

 NGO Full Form in Hindi

 KYC Full Form in Hindi 

 UPI Full Form in Hindi

 

How Many Digits are There in The Indian Financial System Code(IFCE Full Form)? क्या IFC कोड और IFSC कोड एक ही है?

IFC कोड और IFSC कोड समान नहीं हैं।

IFC भारतीय वित्तीय वर्गीकरण के लिए खड़ा है और यह एक वर्गीकरण प्रणाली है जिसका उपयोग भारत में वित्तीय संस्थानों को वर्गीकृत करने के लिए किया जाता है।

इसका उपयोग भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा बैंकों, गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों और भारत में अन्य वित्तीय संस्थानों को उनके संचालन और स्वामित्व की प्रकृति के आधार पर वर्गीकृत करने के लिए किया जाता है। IFC कोड में छह अंक होते हैं और इसका उपयोग वित्तीय संस्थान और उसके संचालन की पहचान करने के लिए किया जाता है।

IFSC भारतीय वित्तीय प्रणाली कोड के लिए खड़ा है और भारत में राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक फ़ंड ट्रांसफ़र (NEFT) प्रणाली में भाग लेने वाली बैंक शाखाओं की पहचान करने के लिए RBI द्वारा निर्दिष्ट ग्यारह-वर्ण अल्फ़ान्यूमेरिक कोड है।

IFSC कोड का उपयोग देश में बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के बीच इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर की सुविधा के लिए किया जाता है। इसमें बैंक के नाम का प्रतिनिधित्व करने वाले चार अक्षर, एक शून्य और बैंक शाखा का प्रतिनिधित्व करने वाली छह संख्याएँ होती हैं।

IFC कोड का उपयोग भारत में वित्तीय संस्थानों को वर्गीकृत करने के लिए किया जाता है, IFSC कोड का उपयोग NEFT प्रणाली में भाग लेने वाली विशिष्ट बैंक शाखाओं की पहचान के लिए किया जाता है।

What is IFSC Code and Why is it Important? IFSC Full Form कोड क्या है और यह क्यों जरूरी है?

Indian Financial System Code (IFSC Full Form) भारत में राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक फ़ंड ट्रांसफ़र (NEFT) प्रणाली में भाग लेने वाली बैंक शाखाओं की पहचान करने के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा निर्दिष्ट ग्यारह-वर्ण का अल्फ़ान्यूमेरिक कोड है। कोड का उपयोग देश में बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के बीच इलेक्ट्रॉनिक धन हस्तांतरण की सुविधा के लिए किया जाता है।

IFSC कोड में बैंक के नाम का प्रतिनिधित्व करने वाले चार अक्षर, एक शून्य और बैंक शाखा का प्रतिनिधित्व करने वाली छह संख्याएँ होती हैं। उदाहरण के लिए, मुंबई में भारतीय स्टेट बैंक की शाखा के लिए IFSC कोड SBIN0000001 हो सकता है, जहाँ “SBIN” बैंक के नाम का प्रतिनिधित्व करता है और “000001” शाखा का प्रतिनिधित्व करता है।

IFSC कोड महत्वपूर्ण हैं क्योंकि वे भारत में बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के बीच इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर को सक्षम करते हैं। उनका उपयोग व्यक्तियों और व्यवसायों द्वारा इलेक्ट्रॉनिक भुगतान करने, बैंक खातों के बीच धन हस्तांतरण और ऑनलाइन बिलों का भुगतान करने के लिए किया जाता है।

IFSC कोड का उपयोग बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों द्वारा NEFT लेनदेन को संसाधित करने और यह सुनिश्चित करने के लिए किया जाता है कि धन सही बैंक और शाखा में स्थानांतरित हो गया है।

IFSC कोड महत्वपूर्ण हैं क्योंकि वे भारत में बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के बीच इलेक्ट्रॉनिक धन हस्तांतरण को सक्षम करते हैं, और व्यक्तियों और व्यवसायों द्वारा इलेक्ट्रॉनिक भुगतान करने और बैंक खातों के बीच धन हस्तांतरण करने के लिए उपयोग किया जाता है।

What is a Financial Code? एक वित्तीय कोड क्या है?

एक वित्तीय कोड एक संख्यात्मक या अल्फ़ान्यूमेरिक कोड होता है जिसका उपयोग वित्तीय संस्थान या विशिष्ट वित्तीय लेनदेन की पहचान करने के लिए किया जाता है। वित्तीय कोड का उपयोग वित्तीय प्रणाली में सूचनाओं के आदान-प्रदान और वित्तीय लेनदेन के प्रसंस्करण की सुविधा के लिए किया जाता है।

There are several types of financial codes:कई प्रकार के वित्तीय कोड हैं,

जिनमें निम्न शामिल हैं:-

• Bank Routing Number: बैंक रूटिंग नंबर:
ये कोड हैं जिनका उपयोग संयुक्त राज्य अमेरिका में बैंकों और क्रेडिट यूनियनों की पहचान करने के लिए किया जाता है। उनका उपयोग वित्तीय संस्थानों के बीच प्रत्यक्ष जमा और वायर ट्रांसफर जैसे लेनदेन को संसाधित करने के लिए किया जाता है।

• International Bank Account Number (IBAN): अंतर्राष्ट्रीय बैंक खाता संख्या (आईबीएएन):
ये दुनिया भर के देशों में बैंक खातों की पहचान करने के लिए उपयोग किए जाने वाले कोड हैं। उनका उपयोग सीमा पार लेनदेन की सुविधा के लिए किया जाता है और आमतौर पर अंतरराष्ट्रीय वायर ट्रांसफर के लिए आवश्यक होता है।

• Swift Code: स्विफ्ट कोड:
ये ऐसे कोड होते हैं जिनका उपयोग अंतर्राष्ट्रीय वायर ट्रांसफर में शामिल वित्तीय संस्थानों की पहचान करने के लिए किया जाता है। उनका उपयोग बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के बीच वित्तीय संदेशों के आदान-प्रदान को सुविधाजनक बनाने के लिए किया जाता है।

• Indian Financial System Codes (IFSC): भारतीय वित्तीय प्रणाली कोड (IFSC):
ये भारत में राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (NEFT) प्रणाली में भाग लेने वाली बैंक शाखाओं की पहचान करने के लिए उपयोग किए जाने वाले कोड हैं। उनका उपयोग देश में बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के बीच इलेक्ट्रॉनिक धन हस्तांतरण की सुविधा के लिए किया जाता है।

वित्तीय कोड वित्तीय प्रणाली का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं और इसका उपयोग वित्तीय संस्थानों के बीच सूचनाओं के आदान-प्रदान और वित्तीय लेनदेन की प्रक्रिया को सुविधाजनक बनाने के लिए किया जाता है।

NFT FULL FORM LIC FULL FORM RBI FULL FORM
ICICI FULL FORM GSTN FULL FORM IFS FULL FORM
WHO Issues The Indian Financial System Code (IFSC Full Form)? WHO IFSC कोड जारी करता है?

Indian Financial System Code (IFSC Full Form) भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा जारी किया जाता है। RBI भारत का केंद्रीय बैंक है और देश में वित्तीय प्रणाली के नियमन और पर्यवेक्षण के लिए जिम्मेदार है।

इस भूमिका के हिस्से के रूप में, भारतीय रिजर्व बैंक भारत में राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (एनईएफटी) प्रणाली में भाग लेने वाली बैंक शाखाओं को आईएफएससी कोड प्रदान करता है।

IFSC कोड में बैंक के नाम का प्रतिनिधित्व करने वाले चार अक्षर, एक शून्य और बैंक शाखा का प्रतिनिधित्व करने वाली छह संख्याएँ होती हैं।

कोड का उपयोग इलेक्ट्रॉनिक धन हस्तांतरण लेनदेन में भाग लेने वाले बैंक और शाखा की पहचान करने और देश में बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के बीच धन हस्तांतरण की सुविधा के लिए किया जाता है।

RBI उन सभी IFSC कोडों की एक सूची रखता है जो भारत में बैंकों और शाखाओं को सौंपे गए हैं। यह सूची आरबीआई की वेबसाइट पर उपलब्ध है और IFSC code की वैधता की पुष्टि करने वाले किसी भी व्यक्ति द्वारा इसका उपयोग किया जा सकता है।

How Many Types of Codes are There in India? भारत में कितने प्रकार के कोड होते हैं?

भारत में विभिन्न उद्देश्यों के लिए कई प्रकार के कोड का उपयोग किया जाता है। कुछ उदाहरण निम्नलिखित हैं:-

Indian Financial System Code (IFSC): भारतीय वित्तीय प्रणाली कोड :

यह भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक फ़ंड ट्रांसफ़र (NEFT) प्रणाली में भाग लेने वाली बैंक शाखाओं की पहचान करने के लिए दिया गया ग्यारह-वर्ण का अल्फ़ान्यूमेरिक कोड है। IFSC कोड का उपयोग देश में बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के बीच इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर की सुविधा के लिए किया जाता है।

Indian Financial Classification (IFC): भारतीय वित्तीय वर्गीकरण :

यह एक वर्गीकरण प्रणाली है जिसका उपयोग RBI द्वारा भारत में वित्तीय संस्थानों को उनके संचालन और स्वामित्व की प्रकृति के आधार पर वर्गीकृत करने के लिए किया जाता है। IFC कोड में छह अंक होते हैं और इसका उपयोग वित्तीय संस्थान और उसके संचालन की पहचान करने के लिए किया जाता है।

Indian Standard Industrial Classification (ISIC): भारतीय मानक औद्योगिक वर्गीकरण :

यह एक वर्गीकरण प्रणाली है जिसका उपयोग भारत में आर्थिक गतिविधियों को वर्गीकृत करने के लिए किया जाता है। इसका उपयोग सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय द्वारा देश में विभिन्न आर्थिक क्षेत्रों पर सांख्यिकीय डेटा एकत्र करने और प्रसारित करने के लिए किया जाता है।

Indian Trade Classification (ITC): भारतीय व्यापार वर्गीकरण:

यह एक वर्गीकरण प्रणाली है जिसका उपयोग भारत में आयातित और निर्यात किए गए सामानों को वर्गीकृत करने के लिए किया जाता है। इसका उपयोग विदेश व्यापार महानिदेशालय द्वारा देश में व्यापार पर सांख्यिकीय डेटा एकत्र करने और प्रसारित करने के लिए किया जाता है।

Indian Classification of Businesses (ICO): व्यवसायों का भारतीय वर्गीकरण:

यह एक वर्गीकरण प्रणाली है जिसका उपयोग भारत में व्यवसायों को वर्गीकृत करने के लिए किया जाता है। इसका उपयोग श्रम और रोजगार मंत्रालय द्वारा देश में रोजगार पर सांख्यिकीय डेटा एकत्र करने और प्रसारित करने के लिए किया जाता है।

ये भारत में उपयोग किए जाने वाले कोड के कुछ उदाहरण हैं। देश में विभिन्न उद्देश्यों के लिए उपयोग किए जाने वाले कई अन्य कोड हैं।

How Many Digits are There in IFC Code? IFC कोड में कितने अंक होते हैं?

भारतीय वित्तीय वर्गीकरण (IFC) कोड में छह अंक होते हैं। IFC कोड का उपयोग भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा भारत में वित्तीय संस्थानों को उनके संचालन और स्वामित्व की प्रकृति के आधार पर वर्गीकृत करने के लिए किया जाता है। कोड का उपयोग वित्तीय संस्थान और उसके संचालन की पहचान करने के लिए किया जाता है।

IFC कोड Indian Financial System Code (IFSC Full Form) से अलग है, जो भारत में राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक फ़ंड ट्रांसफ़र (NEFT) प्रणाली में भाग लेने वाली बैंक शाखाओं की पहचान करने के लिए उपयोग किया जाने वाला एक ग्यारह-वर्ण अल्फ़ान्यूमेरिक कोड है। IFSC कोड में बैंक के नाम का प्रतिनिधित्व करने वाले चार अक्षर, एक शून्य और बैंक शाखा का प्रतिनिधित्व करने वाली छह संख्याएँ होती हैं।

इसलिए, जबकि IFC कोड में छह अंक होते हैं, IFSC कोड में अक्षरों और संख्याओं सहित 11 वर्ण होते हैं। दो कोडों के बीच के अंतर को नोट करना महत्वपूर्ण है, क्योंकि वे भारतीय वित्तीय प्रणाली में विभिन्न उद्देश्यों की पूर्ति करते हैं।

What is IFIC Bank Code? IFIC बैंक कोड क्या है?

Indian Financial System Code (IFSC Full Form) का उल्लेख कर रहे हों, जो भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक फ़ंड ट्रांसफ़र (NEFT) में भाग लेने वाली बैंक शाखाओं की पहचान करने के लिए दिया गया एक ग्यारह-वर्ण का अल्फ़ान्यूमेरिक कोड है। भारत में प्रणाली। IFSC कोड का उपयोग देश में बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के बीच इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर की सुविधा के लिए किया जाता है।

IFSC कोड में बैंक के नाम का प्रतिनिधित्व करने वाले चार अक्षर, एक शून्य और बैंक शाखा का प्रतिनिधित्व करने वाली छह संख्याएँ होती हैं। उदाहरण के लिए, मुंबई में भारतीय स्टेट बैंक की शाखा के लिए IFSC कोड SBIN0000001 हो सकता है, जहाँ “SBIN” बैंक के नाम का प्रतिनिधित्व करता है और “000001” शाखा का प्रतिनिधित्व करता है।

यह संभव है कि IFIC बैंक कोड शब्द का उपयोग IFSC कोड के संदर्भ में किया गया हो, लेकिन मुझे इस शब्द के किसी भी आधिकारिक उपयोग की जानकारी नहीं है। यदि आपके कोई और प्रश्न हैं, तो कृपया मुझे बताएं और मैं आपकी मदद करने की पूरी कोशिश करूंगा।

What is the Difference Between IFSC and IFS Code? IFSC और IFS कोड में क्या अंतर है?

IFSC और IFS कोड में कोई अंतर नहीं है। IFSC और IFS दोनों भारतीय वित्तीय प्रणाली कोड के संक्षिप्त रूप हैं। यह भारत में राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (NEFT) प्रणाली में भाग लेने वाली बैंक शाखाओं की पहचान करने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा सौंपा गया एक ग्यारह-वर्ण अल्फ़ान्यूमेरिक कोड है। कोड का उपयोग देश में बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के बीच इलेक्ट्रॉनिक धन हस्तांतरण की सुविधा के लिए किया जाता है।

IFSC कोड में बैंक के नाम का प्रतिनिधित्व करने वाले चार अक्षर, एक शून्य और बैंक शाखा का प्रतिनिधित्व करने वाली छह संख्याएँ होती हैं। उदाहरण के लिए, मुंबई में भारतीय स्टेट बैंक की शाखा के लिए IFSC कोड SBIN0000001 हो सकता है, जहाँ “SBIN” बैंक के नाम का प्रतिनिधित्व करता है और “000001” शाखा का प्रतिनिधित्व करता है।

IFSC और IFS दोनों का इस्तेमाल भारतीय वित्तीय प्रणाली कोड को संदर्भित करने के लिए किया जाता है, और दोनों के बीच कोई अंतर नहीं है।

What is IFSC Code in Simple Words? सरल शब्दों में IFSC कोड क्या है?

Indian Financial System Code (IFSC Full Form) भारत में राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक फ़ंड ट्रांसफ़र (NEFT) प्रणाली में भाग लेने वाली बैंक शाखाओं की पहचान करने के लिए उपयोग किया जाने वाला एक कोड है। यह भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा निर्दिष्ट ग्यारह-वर्ण का अल्फ़ान्यूमेरिक कोड है और इसका उपयोग देश में बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के बीच इलेक्ट्रॉनिक धन हस्तांतरण की सुविधा के लिए किया जाता है।

IFSC कोड में बैंक के नाम का प्रतिनिधित्व करने वाले चार अक्षर, एक शून्य और बैंक शाखा का प्रतिनिधित्व करने वाली छह संख्याएँ होती हैं। मुंबई में भारतीय स्टेट बैंक की शाखा के लिए IFSC कोड SBIN0000001 हो सकता है जहाँ SBIN बैंक के नाम का प्रतिनिधित्व करता है और “000001” शाखा का प्रतिनिधित्व करता है।

IFSC कोड भारत में NEFT प्रणाली में भाग लेने वाली प्रत्येक बैंक शाखा को दिया गया एक अनूठा कोड है। इसका उपयोग बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के बीच इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर करते समय बैंक और शाखा की पहचान करने के लिए किया जाता है।

Is IFSC Code Only for Indian Banks? क्या IFSC कोड केवल भारतीय बैंकों के लिए है?

Indian Financial System Code (IFSC Full Form) केवल भारतीय बैंकों के लिए है। यह भारत में राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (NEFT) प्रणाली में भाग लेने वाली बैंक शाखाओं की पहचान करने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा सौंपा गया एक ग्यारह-वर्ण अल्फ़ान्यूमेरिक कोड है। कोड का उपयोग देश में बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के बीच इलेक्ट्रॉनिक धन हस्तांतरण की सुविधा के लिए किया जाता है।

IFSC कोड में बैंक के नाम का प्रतिनिधित्व करने वाले चार अक्षर, एक शून्य और बैंक शाखा का प्रतिनिधित्व करने वाली छह संख्याएँ होती हैं। यह केवल भारत में बैंक शाखाओं को सौंपा गया है जो एनईएफटी प्रणाली में भाग ले रहे हैं।

बैंकों की पहचान करने और इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर की सुविधा के लिए अन्य देशों के अपने कोड हैं। उदाहरण के लिए, संयुक्त राज्य अमेरिका में, इस उद्देश्य के लिए बैंक रूटिंग नंबरों का उपयोग किया जाता है। अन्य देशों में, अंतर्राष्ट्रीय बैंक खाता संख्या (IBAN) या स्विफ्ट कोड जैसे कोड का उपयोग किया जा सकता है।

जबकि IFSC कोड केवल भारतीय बैंकों के लिए है, अन्य देशों के पास बैंकों की पहचान करने और इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर की सुविधा के लिए अपने स्वयं के कोड हैं।

What is the Format of IFSC Code? IFSC कोड का प्रारूप क्या होता है?

भारतीय वित्तीय प्रणाली कोड (IFSC) का प्रारूप इस प्रकार है:-

XXYYYZZZZZ

• XX बैंक के नाम का प्रतिनिधित्व करता है। ये अपरकेस में बैंक के नाम के पहले दो अक्षर हैं।
• YYY बैंक के नाम का प्रतिनिधित्व करता है। ये अपरकेस में बैंक के नाम के अगले तीन अक्षर हैं।
• ZZZZZZ बैंक शाखा का प्रतिनिधित्व करता है। ये छह अंक हैं जो बैंक शाखा का प्रतिनिधित्व करते हैं।

मुंबई में भारतीय स्टेट बैंक की शाखा के लिए IFSC कोड SBIN0000001 हो सकता है, जहाँ “SBIN” बैंक के नाम का प्रतिनिधित्व करता है और “000001” शाखा का प्रतिनिधित्व करता है।

यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि फंड ट्रांसफर करने के लिए इसका उपयोग करते समय आप कोड को सही ढंग से दर्ज करें। यदि आप गलत तरीके से कोड दर्ज करते हैं, तो आपका स्थानांतरण नहीं होता है।

 

%d bloggers like this: