PCS Full Form in Hindi | पीसीएस क्या है?

 

PCS Full Form in Hindi | पीसीएस क्या है?


PCS Full Form क्या होता है।?

PCS ka Full Form - Provincial Civil Services


दोस्तों इस पोस्ट में आपको PCS Full Form, PCS Full Form in Hindi, PCS Ka Full Form, PCS Officer Full Form, Full Form of PCS, PCS Meaning, P C S Full Form, PCS ka full form in hindi, What is PCS full form इन सारे सवालों की सम्पूर्ण जानकारी दूंगा। जो की आपके लिए बहुत ही मददगार साबित होगा। 


 

 IAS Full Form in Hindi

 


PCS का फूल फॉर्म Provincial Civil Services होता है। PCS को हिंदी में प्रांतीय सिविल सेवा कहते है। PCS भारत में सभी राज्यों के द्वारा अलग अलग सिविल सेवा में अधिकारियों की नियुक्ति के लिए PCS का Exam कराया जाता है। PCS Exam के द्वारा ही सभी राज्य अपने यहाँ सिविल सेवा में अधिकारियों की नियुक्ति करता है। जो भी विद्यार्थी Civil Services की नौकरी करना चाहते है, वो PCS का Exam दे सकते है। PCS यानि प्रांतीय सिविल सेवा में अधिकारी बनाने के लिए राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा संचालित Exam पास करना होगा।  


PCS Full Form in Hindi | पीसीएस क्या है?



पीसीएस क्या होता है? – What is PCS Full Form in Hindi?


प्रत्येक राज्य अपने यहाँ पर Group A की भर्ती के लिए PCS की Exam राज्य सिविल सेवा चयन आयोग द्वारा कराती है। राज्य में विभिन्न स्तर के प्रशासनिक अधिकारी के पदों पर भर्ती की प्रक्रिया पूरी करती है। राज्य में कानून व्यवस्था को सुचारु रूप से संचालित करने के लिए जिला स्तर पर, तहसील स्तर पर और मंडल स्तर पर राजस्व से सम्बंधित एवं कानून व्यवस्था को पालन करवाने के लिए  पीसीएस अधिकारी की नियुक्ति करती है। 


PCS Exam का सभी राज्यों में अलग अलग नाम बदल कर होता है। जैसे उत्तर प्रदेश के लिए परीक्षा को UPSC Exam बोलते है। अगर राजस्थान की PCS Exam है तो RPSC Exam बोलते है। अगर बिहार की PCS Exam है तो BPSC Exam बोलते है। 


PCS की परीक्षा सिर्फ अपने राज्य के ही विद्यार्थी दे सकते है। दूसरे प्रदेश के विद्यार्थी के लिए अलग से कुछ आरक्षित सीट की सुबिधा होती है। सभी राज्य में दूसरे राज्य के लिए अलग से सीट होता है। उस प्रक्रिया को फॉलो करते हुए आप दूसरे राज्य के लिए Apply कर सकते है। बाकि सारे परीक्षा की प्रक्रिया बराबर है। 



 RTPS Bihar Kya Hai

 Land Record Bihar



Profile of PCS Officer .  PCS - प्रशासनिक अधिकारियों की प्रोफाइल:- 


PCS Exam के द्वारा प्रशासनिक अधिकारियों की नियुक्ति केवल उसी राज्य में राज्य के जिला में या तहसील में होता है। प्रशासनिक अधिकारियों का ट्रान्सफर भी सिर्फ अपने राज्य में ही होता है। किसी दूसरे राज्य में नहीं होता है। चाहे अभ्यर्थी किसी राज्य का हो। 


प्रशासनिक अधिकारियों का मुख्य उद्देश्य होता है की वो जिस पोस्ट पर नियुक्ति हुई है उस पोस्ट के सारे कामो को सुचारु रूप से करे। सरकार की जो भी योजना आती है उसे अपने देख रेख में लागु करवाना एवं उसका लाभ प्रत्येक नागरिक तक पहुंचना होता है। एवं प्रशासनिक कार्य को चेस्ट दुरुस्त रखना भी होता है। 


राज्य सरकार के द्वारा PCS अधिकारी को काम करना होता है। एवं राज्य सरकार के द्वारा अधिकारी को रहने के लिए आवास की सुबिधा, वाहन की सुबिधा, और सहायक की भी सुबिधा दी जाती है।  


Administrative post of PCS । PCS की प्रशासनिक पद निम्न है:-


➧ DSP - Deputy superintendent of police

 ARTO - Assistant Regional Transport Officer

 BDO - Block Development Officer

 DMO - District Minority Officer 

 DFMO - District Food Marketing Officer 

 AC - Assistant Commissioner 

 BTO - Business Tax Officer 

 SDM - Sub Divisional Magistrate

 PPS - Provincial Police Service 

 PFS - Provincial Forest Service



 SSC Full Form in Hindi 

 DM Full Form in Hindi 

 UPSC Full Form in Hindi 

 HRMS Railway Full Form


Educational Qualification for PCS Exam । PCS परीक्षा के लिए शैक्षिक योग्यता:-


PCS परीक्षा के लिए विद्यार्थी को किसी भी विश्वविद्यालय से स्नातक पास होना जरुरी है। 

 PCS परीक्षा के लिए विद्यार्थी को भारत के नागरिक होना जरुरी है। 

 PCS परीक्षा में किसी स्पेशल पोस्ट के लिए विद्यार्थी को उसमें डिग्री होना आवश्यक है। जैसे कृषि के क्षेत्र में नौकरी के लिए कृषि के क्षेत्र में स्नातक होना चाहिए। 

 PCS परीक्षा में Sub Registrar, Assistant Prosecuting officer के लिए विद्यार्थी को Law की डिग्री होना जरुरी है। 

 PCS परीक्षा में Auditor Officer बनाने के लिए Commerce साइट की डिग्री होना जरुरी है। 


Age Limit for PCS Exam। PCS Exam के लिए आयु सीमा:- 


PCS Exam देने के लिए सभी वर्ग के अभ्यर्थी को अलग अलग उम्र में छूट प्रदान की गई है। 


 सामान्य वर्ग के विद्यार्थी के लिए 21 वर्ष से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

 अन्य पिछड़ा वर्ग के विद्यार्थियों के लिए 3 साल की छूट दी जाती है।

 SC और ST वर्ग के विद्यार्थियों के लिए 5 साल की छूट दी जाती है।

 दिव्यांग वाले विद्यार्थियों को 15 साल की छूट दी जाती है।

 सरकारी कर्मचारी एवं खिलाड़ियों के लिए 5 साल की छूट दी जाती है।


पीसीएस परीक्षा की रुपरेखा। PCS Exam Pattern:-


PCS परीक्षा तीन चरणों में होता है। 


 प्रारंभिक परीक्षा - Preliminary Examination

 मुख्य परीक्षा - Mains Examination

 साक्षात्कार - Interview


 प्रारंभिक परीक्षा - Preliminary Examination:-

PCS की प्रारंभिक परीक्षा में दो प्रश्न पत्र होते है। पहला प्रश्न पत्र में 150 प्रश्न होते है। 

जिसमे सामान्य ज्ञान से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते है। और दूसरे प्रश्न पत्र में 100 प्रश्न होते है।जिसमे Civil Service Aptitude Test से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते है। दो घंटे का समय होता है। दोनों प्रश्न पत्र 400 Marks के होता है। 


  मुख्य परीक्षा - Mains Examination:-

PCS की मुख्य परीक्षा में कुल 8 प्रश्न पत्र होते है। जिसमे 4 प्रश्न पत्र अनिवार्य विषय के होता है। और 4 प्रश्न पत्र वैकल्पिक विषय के होता है। मुख्य परीक्षा देने का समय 3 घण्टे का होता है। और सभी प्रश्न पत्र 1500 Marks के होते है।    


 साक्षात्कार - Interview:-

PCS की दोनों परीक्षा प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा पास करने के बाद अभ्यार्थी को साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है। साक्षात्कार भी 200 का होता है।  


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ