What is NABARD Full Form Hindi | नाबार्ड क्या है ?

यहाँ पर हम सभी जानेगे की NABARD Full Form in Hindi क्या होता है। NABARD किसे कहते है। Nabard Bank और Nabard Loan क्या है। 

Table of Contents

What is NABARD Ka Full Form

NABARD Full Form

 National Bank For Agriculture & Rural Development

 

जैसा की हमलोग जानते है की NABARD का फुल फॉर्म National Bank For Agriculture And Rural Development होता है। और Nabard को हिंदी में राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक कहते है। 

NABARD Full Form in Hindi 

What is the history of NABARD Full Form:- नाबार्ड का इतिहास क्या है ?

 

 IFS Full Form in Hindi

 KGF Full Form in Hindi

 

National Bank For Agriculture And Rural Development (NABARD Full Form in Hindi) की स्थापना भारत में गरीबी को दूर करने के लिए शिवरामन कमिटी के राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक अधिनियम 1981 के द्वारा  12 जुलाई 1982 को मुंबई, महाराष्ट्र में की गई थी। हलाकि पहले RBI कृषि वित्त से जुड़ा हुआ मामला खुद देखती थी। लेकिन समय के अनुसार इसका बिस्तार होना जरुरी था।  

NABARD Full Form in Hindi | नाबार्ड क्या है ?

What is the objective of NABARD Full Form in Hindi: NABARD का क्या उद्देश है ?

National Bank For Agriculture And Rural Development (NABARD Full Form in Hindi) की स्थापना ग्रामीण क्षेत्रों में ऋण उपलब्ध कराने के लिए गठित किया गया है। नाबार्ड में कृषि ऋण विभाग, ग्रामीण योजना और ऋण प्रकोष्ठ, कृषि पुनर्वित्त और विकास निगम को प्रतिस्थापित कर गठन किया गया है। Nabard की शाखा हमारे देश में कई है। इसलिए RBI ने इसका अलग से एजेंसी बनाने की सिफारिस की। ताकि समुचित सही तरीके से काम कर सके। 

NABARD Full Form National Bank For Agriculture and Rural Development

 

 

 A To Z Full Form

 

 

What is the role of NABARD Full Form: नाबार्ड की कार्य की भूमिका क्या है ?

 नाबार्ड की कार्य की भूमिका निम्नप्रकार है :

  • ➧ नाबार्ड के द्वारा कृषि क्षेत्र के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में ऋणदाता को पुनर्वित्त सुविधा प्रदान करता है। 
  • ➧ नाबार्ड के द्वारा संस्थागत विकास करना और उसे बढ़ावा देना होता है। 
  • ➧ नाबार्ड के द्वारा संस्थागत बैंकों का मूल्यांकन करना , एवं निगरानी और निरीक्षण करना होता है। 
  •  ➧ नाबार्ड के द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में सभी तरह के विकासा को बढ़ावा देना और जो संस्थान ग्रामीण क्षेत्रों में निवेश और उत्पादन ऋण उपलब्ध कराते हैं उनके लिए वित्तपोषण की भूमिका में नजर आता है। 
  •  ➧ नाबार्ड के द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में ऋण वितरण प्रणाली की क्षमता के लिए और संस्थान के निर्माण की उपाय करता है, जैसे – निगरानी करना, पुनर्वास योजनाओं के सुचारु रूप से सञ्चालन करना, ऋण संस्थाओं के पुनर्गठन, कर्मचारियों के प्रशिक्षण में अत्यधिक सुधार करना होता है। 
  •  ➧ नाबार्ड के द्वारा संस्थानों की निचे की स्तर पर विकास से जुडी समस्या और उनकी ग्रामीण वित्तपोषण की साडी समस्या को ध्यान में रखना होता है। एवं सभी सरकारों की भारत सरकार और राज्य सरकार और आरबीआई की नीति के तहत सभी  मामलों से जुडी राष्ट्रीय स्तर की संस्थाओं को आपस में बनाए रखता होता है।
  •  ➧ नाबार्ड के द्वारा आरआरबी का विनियमन और पर्यवेक्षण की महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।  यह राज्य के सहकारी बैंकों, जिला सहकारी केंद्रीय बैंकों और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों की देखरेख की जिम्मेदारी निभाता है।

 

 Ancient History of India GK 

 IP Full Form in Hindi

 CNG Full Form in Hindi

 World Geography Hindi GK

 

What is the work of NABARD on rural schemes: NABARD का ग्रामीण योजनाओं पर क्या काम है?

भारत सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रो के कृषि, कुटीर उद्योगों के विकास के लिए ऋण देने को बहुत ही सुविधाजनक बनाने और विकास को अत्यथिक बढ़ावा देने के लिए भारत सरकार ने राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक की स्थापना की है। 

National Bank For Agriculture And Rural Development (NABARD Full Form in Hindi) द्वारा कृषिगत गतिविधियों के लिए आने वाले वर्षों में भारतीय अर्थव्यवस्था पूरी तरह से उच्च विकास दर के लिए प्रस्तुत है। भारत के समग्र विकास में तथा ग्रामीण एवं कृषि के विकास में नाबार्ड की भूमिका अत्यधिक महत्वपूर्ण है। 

स्विस एजेंसी की सहायता से नाबार्ड ने विकास और सहयोग के लिए ग्रामीण विकास निधि की स्थापना की थी। इसके अंतर्गत सड़कों सिंचाई, ग्रामीण और पुलों के निर्माण, स्वास्थ्य और शिक्षा, जल इत्यादि कई परियोजनाएं शामिल हैं।

ग्रामीण क्षेत्रो के लिए व्यक्तियों को गैर सरकारी संगठनों, सहकारिता, स्वावलंबी समूहों और पंचायती राज संस्थाओं को सहायता में बहुत योगदान हैं, जिसके कारन ग्रामीण क्षेत्रों में जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाने की और आजीविका के अवसर और रोजगार को बढ़ावा देने की भी क्षमता बढ़ेगी। संस्थाएं भारत में जमीनी स्तर पर लगभग सभी तरह की अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में काम कर रही हैं। स्वंसहायता समूहों के साथ और भी प्रकार के संस्थानों के साथ सहकारी समितियों के संबंध हैं।

अधिक जानकारी के लिए NABARD की Official Website https://www.nabard.org/ पर देखे। 

 

 

 CRPF Full Form in Hindi

 

 

Which bank is National Bank for Agriculture and Rural Development? राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक कौन सा बैंक है?

राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (NABARD Full Form) भारत में कृषि और ग्रामीण विकास को बढ़ावा देने के लिए नामित वित्तीय संस्थान है। यह देश में विभिन्न कृषि और ग्रामीण क्षेत्रों को वित्तीय और विकासात्मक सहायता प्रदान करता है।

Is NABARD a Government or Private Company?क्या नाबार्ड एक सरकारी या निजी कंपनी है?

National Bank For Agriculture And Rural Development (NABARD Full Form in Hindi) (राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक) भारत में एक सरकारी स्वामित्व वाली वित्तीय संस्था है। यह पूरी तरह से भारत सरकार के स्वामित्व में है और वित्त मंत्रालय के अधिकार क्षेत्र में संचालित होता है।

Is NABARD Grade A Govt Job? क्या नाबार्ड ग्रेड एक सरकारी नौकरी है?

Is NABARD Grade A Govt में एक प्रकार की सरकारी नौकरी है। यह NABARD में सहायक प्रबंधक स्तर पर अधिकारियों की भर्ती को संदर्भित करता है, जो ग्रामीण और कृषि विकास के लिए जिम्मेदार एक सरकारी स्वामित्व वाली वित्तीय संस्था है। नाबार्ड में ग्रेड ए अधिकारी होने का मतलब सरकारी क्षेत्र के तहत कृषि, ग्रामीण विकास और वित्त से संबंधित विभिन्न विभागों में सहायक प्रबंधक के रूप में काम करना है।

Who is Eligible for NABARD Vacancy 2023 ? नाबार्ड रिक्ति 2023 के लिए कौन पात्र है?

National Bank For Agriculture And Rural Development (NABARD Full Form in Hindi) नाबार्ड रिक्तियों के लिए पात्रता मानदंड विकसित हो गए होंगे। मैं आपको पात्रता मानदंड का एक सामान्य विचार प्रदान कर सकता हूँ। NABARD और ग्रेड बी अधिकारी पदों के लिए आवश्यक था। ये मानदंड बदल गए हैं। इसलिए 2023 में नाबार्ड रिक्तियों के लिए पात्रता के संबंध में नवीनतम जानकारी के लिए आधिकारिक नाबार्ड वेबसाइट या भर्ती अधिसूचना को देखना आवश्यक है।

नाबार्ड ग्रेड ए और ग्रेड बी अधिकारी पदों के लिए पात्रता मानदंड में आम तौर पर शामिल हैं:-

  • Educational Qualification: शैक्षिक योग्यता:
    उम्मीदवारों को आमतौर पर पद के आधार पर विशिष्ट शैक्षिक आवश्यकताओं के साथ किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री की आवश्यकता होती है। कुछ विषयों के लिए स्नातकोत्तर डिग्री या विशेष योग्यता की आवश्यकता हो सकती है।
  • Age Range: आयु सीमा:
    आयु सीमा उम्मीदवार की विशिष्ट स्थिति और श्रेणी के आधार पर भिन्न होती है। आम तौर पर उम्मीदवारों के लिए न्यूनतम और अधिकतम आयु की आवश्यकता होती है।
  • Nationality: राष्ट्रीयता:
    उम्मीदवार भारतीय नागरिक होना चाहिए।
  • Work Experience: कार्य अनुभव:
    कुछ पदों के लिए संबंधित क्षेत्रों में पूर्व कार्य अनुभव की आवश्यकता हो सकती है। यह आवश्यकता उम्मीदवार की स्थिति और श्रेणी के आधार पर भिन्न हो सकती है।
  • Language Proficiency: भाषा प्रवीणता:
    जिस राज्य के लिए आप आवेदन कर रहे हैं उस राज्य की क्षेत्रीय भाषा में प्रवीणता की आवश्यकता हो सकती है, खासकर उन भूमिकाओं के लिए जिनमें ग्रामीण समुदायों के साथ मिलकर काम करना शामिल है।
  • Other Requirements: अन्य आवश्यकताएँ:
    शारीरिक फिटनेस, चिकित्सा मानकों और चरित्र से संबंधित विशिष्ट आवश्यकताएँ हो सकती हैं।
What Type of bank is NABARD Full Form? नाबार्ड किस प्रकार का बैंक है?

NABARD जो राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक है। भारत में एक विशेष विकास बैंक है। यह देश में कृषि और ग्रामीण विकास पहलों को बढ़ावा देने और समर्थन करने पर केंद्रित है। नाबार्ड की भूमिका में वित्तीय और विकासात्मक सहायता प्रदान करना, साथ ही ग्रामीण आजीविका, कृषि उत्पादकता और ग्रामीण बुनियादी ढांचे में सुधार लाने के उद्देश्य से विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों को लागू करना शामिल है।

जबकि NABARD एक वित्तीय संस्थान के रूप में कार्य करता है। इसका मुख्य उद्देश्य पारंपरिक वाणिज्यिक बैंक के रूप में कार्य करने के बजाय ग्रामीण और कृषि विकास को सुविधाजनक बनाना और तेज करना है।

Which bank comes under NABARD? कौन सा बैंक नाबार्ड के अंतर्गत आता है?

NABARD Full Form (National Bank for Agriculture and Rural Development) के पास उसी तरह से बैंक नहीं हैं जैसे किसी मूल संगठन के पास सहायक बैंक हो सकते हैं। इसके बजाय, नाबार्ड एक अलग इकाई है जो भारत में एक विशेष विकास संस्थान के रूप में कार्य करती है।

यह कृषि और ग्रामीण विकास परियोजनाओं के लिए धन जुटाने और ऋण सहायता प्रदान करने के लिए वाणिज्यिक बैंकों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों और सहकारी बैंकों सहित विभिन्न वित्तीय संस्थानों के साथ मिलकर काम करता है।

नाबार्ड इन वित्तीय संस्थानों के साथ सहयोग करता है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि ग्रामीण और कृषि क्षेत्रों को आवश्यक वित्तीय सहायता और विकासात्मक सहायता प्राप्त हो।

What is the Salary in NABARD? नाबार्ड में वेतन कितना है?

NABARD (NABARD Full Form) ग्रेड ए और ग्रेड बी अधिकारियों के लिए वेतन संरचना स्थिति, स्थान और अन्य कारकों के आधार पर भिन्न थी। नाबार्ड अधिकारियों के वेतन में मूल वेतन, भत्ते और अन्य लाभ शामिल हैं। तब से वेतन संरचना बदल गई होगी, और 2023 में नाबार्ड वेतन के संबंध में सबसे सटीक और अद्यतित जानकारी के लिए नवीनतम आधिकारिक अधिसूचना या नाबार्ड वेबसाइट को देखना महत्वपूर्ण है।

NABARD ग्रेड ए और ग्रेड बी अधिकारियों को प्रतिस्पर्धी वेतनमान और भत्ते मिलते थे जो भारत में अन्य सरकारी और बैंकिंग क्षेत्र की नौकरियों के बराबर थे। वेतन और भत्ते में शामिल हो सकते हैं:-

  • Basic Salary: मूल वेतन:
    यह निश्चित वेतन घटक है जो एक अधिकारी के वेतन का आधार बनता है।
  • Dearness Allowance (DA): महंगाई भत्ता (डीए):
    जीवनयापन भत्ता की लागत जिसे मुद्रास्फीति के प्रभावों का मुकाबला करने के लिए समय-समय पर समायोजित किया जाता है।
  • House Rent Allowance (HRA): मकान किराया भत्ता (एचआरए):
    आवास व्यय को कवर करने के लिए एक भत्ता, जो पोस्टिंग के स्थान के आधार पर भिन्न होता है।
  • Transportation Allowance: परिवहन भत्ता:
    परिवहन व्यय को कवर करने के लिए एक भत्ता।
  • Medical Allowance: चिकित्सा भत्ता:
    चिकित्सा व्यय को कवर करने के लिए एक भत्ता।
  • Pension and Provident Fund: पेंशन और भविष्य निधि:
    अधिकारी आमतौर पर सेवानिवृत्ति लाभों के लिए इन निधियों में योगदान करते हैं।
  • Other Allowances: अन्य भत्ते:
    भूमिका और जिम्मेदारियों के आधार पर अतिरिक्त भत्ते भी हो सकते हैं।
  • Features and Benefits: सुविधाएं और लाभ:
    नाबार्ड अधिकारियों को अवकाश यात्रा रियायत, प्रतिपूर्ति और भी बहुत कुछ जैसे लाभ प्राप्त हो सकते हैं।
Is NABARD Regulated by RBI? क्या नाबार्ड आरबीआई द्वारा नियंत्रित है?

नाबार्ड (राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक) भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के साथ निकट समन्वय में काम करता है। जबकि नाबार्ड एक स्वायत्त विकास संस्थान है, इसके संचालन और गतिविधियों को व्यापक वित्तीय और आर्थिक लक्ष्यों के साथ प्रभावी कामकाज और संरेखण सुनिश्चित करने के लिए आरबीआई द्वारा निर्देशित और विनियमित किया जाता है।

नाबार्ड ग्रामीण और कृषि विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और आरबीआई के साथ इसका सहयोग भारत के वित्तीय और ग्रामीण क्षेत्रों की समग्र स्थिरता और विकास सुनिश्चित करने में मदद करता है।

Which is the highest post in NABARD? नाबार्ड में सर्वोच्च पद कौन सा है?

National Bank For Agriculture And Rural Development (NABARD Full Form in Hindi) में सबसे बड़ा पद नाबार्ड का अध्यक्ष होता है। अध्यक्ष संगठन का प्रमुख होता है और नाबार्ड के भीतर सर्वोच्च प्रशासनिक अधिकार रखता है। अध्यक्ष संस्था के समग्र कामकाज की देखरेख करता है, रणनीतिक दिशा-निर्देश निर्धारित करता है, और विभिन्न मंचों और सहयोगों में नाबार्ड का प्रतिनिधित्व करता है। अध्यक्ष की नियुक्ति भारत सरकार द्वारा की जाती है।

जहां अध्यक्ष प्रशासनिक अधिकार के मामले में सर्वोच्च पद है, वहीं नाबार्ड में कार्यकारी निदेशकों और महाप्रबंधकों सहित कई अन्य वरिष्ठ पद भी हैं, जो संगठन के संचालन और प्रबंधन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

How tough is the NABARD Exam? नाबार्ड परीक्षा कितनी कठिन है?

NABARD Exam का कठिनाई स्तर परीक्षा में शामिल विषयों के लिए उनकी तैयारी, पृष्ठभूमि और योग्यता के आधार पर अलग-अलग होती है। NABARD ग्रेड ए और ग्रेड बी अधिकारी परीक्षा को भारत में अन्य सरकारी और बैंकिंग क्षेत्र की परीक्षाओं के समान प्रतिस्पर्धी और चुनौतीपूर्ण माना जाता है।

National Bank For Agriculture And Rural Development (NABARD Full Form) विचार करने के लिए यहां कुछ कारक दिए गए हैं:-

  • Syllabus: पाठ्यक्रम:
    नाबार्ड परीक्षाओं के पाठ्यक्रम में आम तौर पर कृषि, ग्रामीण विकास, अर्थशास्त्र, वित्त, तर्क, अंग्रेजी भाषा और समसामयिक मामलों सहित विषयों की एक विस्तृत श्रृंखला शामिल होती है। इन विषयों के साथ आपकी परिचितता और सहजता की सीमा कथित कठिनाई को प्रभावित कर सकती है।
  • Competition: प्रतियोगिता:
    ये परीक्षाएं अत्यधिक प्रतिस्पर्धी होती हैं, जिनमें सीमित संख्या में पदों के लिए बड़ी संख्या में उम्मीदवार प्रतिस्पर्धा करते हैं। प्रतिस्पर्धा का स्तर परीक्षाओं को और अधिक चुनौतीपूर्ण बना सकता है।
  • Preparation: तैयारी:
    आपकी तैयारी का स्तर महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। मेहनती और केंद्रित तैयारी, जिसमें अवधारणाओं का पूरी तरह से अध्ययन करना, मॉक टेस्ट का अभ्यास करना और लगातार दोहराना शामिल है, आपके अच्छे प्रदर्शन की संभावनाओं को बढ़ा सकता है।
  • Time Management: समय प्रबंधन:
    नाबार्ड परीक्षाएं समयबद्ध होती हैं, इसलिए परीक्षा के दौरान दिए गए समय सीमा के भीतर सभी प्रश्नों का उत्तर देने के लिए कुशल समय प्रबंधन की आवश्यकता होती है।
  • Subjective Perception: व्यक्तिपरक धारणा:
    परीक्षा की कथित कठिनाई किसी व्यक्ति की ताकत और कमजोरियों के आधार पर भी भिन्न हो सकती है। कुछ उम्मीदवारों को उनकी पृष्ठभूमि और रुचियों के आधार पर कुछ अनुभाग दूसरों की तुलना में आसान लग सकते हैं।

नाबार्ड परीक्षाओं में सफल होने के लिए उम्मीदवारों को अक्सर मजबूत वैचारिक समझ, समर्पित तैयारी, प्रभावी समय प्रबंधन और महत्वपूर्ण सोच कौशल के संयोजन की आवश्यकता होती है। यह सलाह दी जाती है कि अपनी तैयारी पहले से ही शुरू कर दें, प्रतिष्ठित स्रोतों से अध्ययन सामग्री का उपयोग करें और यदि आवश्यक हो तो मार्गदर्शन लें।

What happens After Passing the NABARD exam? नाबार्ड परीक्षा पास करने के बाद क्या होता है?

National Bank For Agriculture And Rural Development (NABARD Full Form in Hindi) परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद उम्मीदवारों को उन संबंधित पदों के लिए चुना जाता है जिनके लिए उन्होंने आवेदन किया था। जो ग्रेड ए या ग्रेड बी अधिकारी पद होते हैं।

  • Interview and Selection Process: साक्षात्कार और चयन प्रक्रिया:
    लिखित परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद, उम्मीदवारों को आमतौर पर साक्षात्कार या चयन प्रक्रिया के लिए बुलाया जाता है जो विशिष्ट पद के लिए उनकी उपयुक्तता का आकलन करता है। इस चरण में व्यक्तिगत साक्षात्कार, समूह चर्चा, और/या अन्य मूल्यांकन विधियां शामिल हो सकती हैं।
  • Document Verification: दस्तावेज़ सत्यापन:
    जो उम्मीदवार साक्षात्कार या चयन प्रक्रिया में सफलतापूर्वक उत्तीर्ण हो जाते हैं, उन्हें दस्तावेज़ सत्यापन से गुजरना पड़ता है, जहाँ उनके शैक्षणिक और अन्य प्रासंगिक दस्तावेज़ों की प्रामाणिकता के लिए जाँच की जाती है।
  • Final Selection: अंतिम चयन:
    लिखित परीक्षा के प्रदर्शन, साक्षात्कार परिणाम और दस्तावेज़ सत्यापन के आधार पर उम्मीदवारों का अंतिम चयन किया जाता है। सफल उम्मीदवारों को नाबार्ड में संबंधित पदों (सहायक प्रबंधक या प्रबंधक) की पेशकश की जाती है।
  • Training and Induction: प्रशिक्षण और प्रेरण:
    नवनियुक्त अधिकारियों को संगठन के संचालन, नीतियों, प्रक्रियाओं और कार्य संस्कृति से परिचित कराने के लिए प्रशिक्षण और प्रेरण कार्यक्रमों से गुजरना पड़ता है। यह प्रशिक्षण उन्हें अपनी भूमिका प्रभावी ढंग से निभाने के लिए सक्षम बनाता है।
  • Posting & Job Responsibilities: पोस्टिंग और नौकरी की जिम्मेदारियाँ:
    एक बार प्रशिक्षण पूरा हो जाने के बाद, अधिकारियों को संगठन की आवश्यकताओं और अधिकारी के कौशल और प्राथमिकताओं के आधार पर नाबार्ड की विभिन्न शाखाओं या विभागों में तैनात किया जाता है।

वे अपनी नौकरी की जिम्मेदारियां निभाना शुरू कर देते हैं, जिसमें आम तौर पर ग्रामीण और कृषि विकास, वित्त और नीति कार्यान्वयन से संबंधित भूमिकाएं शामिल होती हैं।

  • Career Progression: करियर में प्रगति:
    नाबार्ड प्रदर्शन, अनुभव और अन्य कारकों के आधार पर पदोन्नति, स्थानांतरण और उन्नति के माध्यम से करियर में प्रगति के अवसर प्रदान करता है। अधिकारी समय के साथ संगठन के भीतर पदानुक्रम में आगे बढ़ सकते हैं।
Frequently Asked Questions. FAQ ....

NABARD का फुल फॉर्म क्या होता है ?

NABARD का फुल फॉर्म National Bank For Agriculture And Rural Development होता है। और Nabard को हिंदी में राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक कहते है। 

NABARD का इतिहास क्या है ?

Nabard Bank की स्थापना भारत में गरीबी को दूर करने के लिए शिवरामन कमिटी के राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक अधिनियम 1981 के द्वारा  12 जुलाई 1982 को मुंबई, महाराष्ट्र में की गई थी। हलाकि पहले RBI कृषि वित्त से जुड़ा हुआ मामला खुद देखती थी। लेकिन समय के अनुसार इसका बिस्तार होना जरुरी था।  

NABARD का क्या उद्देश है ?

NABARD की स्थापना ग्रामीण क्षेत्रों में ऋण उपलब्ध कराने के लिए गठित किया गया है। नाबार्ड में कृषि ऋण विभाग, ग्रामीण योजना और ऋण प्रकोष्ठ, कृषि पुनर्वित्त और विकास निगम को प्रतिस्थापित कर गठन किया गया है। Nabard की शाखा हमारे देश में कई है। इसलिए RBI ने इसका अलग से एजेंसी बनाने की सिफारिस की। ताकि समुचित सही तरीके से काम कर सके। 

NABARD की कार्य की भूमिका क्या है ?

 नाबार्ड की कार्य की भूमिका निम्नप्रकार है : ➧ नाबार्ड के द्वारा कृषि क्षेत्र के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में ऋणदाता को पुनर्वित्त सुविधा प्रदान करता है।  ➧ नाबार्ड के द्वारा संस्थागत विकास करना और उसे बढ़ावा देना होता है।  ➧ नाबार्ड के द्वारा संस्थागत बैंकों का मूल्यांकन करना , एवं निगरानी और निरीक्षण करना होता है।   ➧ नाबार्ड के द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में सभी तरह के विकासा को बढ़ावा देना और जो संस्थान ग्रामीण क्षेत्रों में निवेश और उत्पादन ऋण उपलब्ध कराते हैं उनके लिए वित्तपोषण की भूमिका में नजर आता है। 

NABARD की Website क्या है ?

NABARD की Official Website https://www.nabard.org/ है।

Leave a Comment