CBSE Full Form in Hindi | सीबीएसई फुल फॉर्म क्या होता है?

हम यहाँ इस पोस्ट CBSE Full Form में जानेगे की CBSE क्या होता है। सीबीएसई बोर्ड का गठन कब हुआ था।

CBSE Full Form क्या है ?

 CBSE Full Form

  Central Board of Secondary Education

CBSE का फुल फॉर्म Central Board of Secondary Education होता है। CBSE को हिंदी में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड कहते है।

CBSE Full Form in Hindi | सीबीएसई फुल फॉर्म क्या होता है?

What is CBSE Full Form? CBSE क्या है?

CBSE (CBSE Full Form) एक राष्ट्रीय स्तर का की बोर्ड परीक्षा है! जिसे केंद्र की देखरेख में होता है ! CBSE बोर्ड ने उत्तर प्रदेश में काफी तरक्की की है ! यह भारत के सबसे प्रमुख बोर्ड में एक माना जाता है ! यह बच्चो के भविष्य की एक सीढ़ी है ! प्रतिवर्ष लाखो स्टूडेंट इस परीक्षा में हिस्सा लेते है ! भारत में स्कूल और कॉलेज की परीक्षा का संचालन शिक्षा की दृष्टि से राष्ट्रीय बोर्ड द्वारा केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड करती है !

CBSE Full Form = Central Board of Secondary Education

When was the CBSE Board formed? CBSE Board Full Form का गठन कब हुआ था ?

भारत में सर्वप्रथम उत्तर प्रदेश बोर्ड ऑफ हाई स्कूल एण्ड इंटरमीडिएट एजुकेशन पहला बोर्ड की स्थापना सन् 1921 में हुई थी। वैसे CBSE की स्थापना 03 नवंबर 1962 को हुई थी। CBSE के गठन की समय यह केंद्रीय बोर्ड बन गया।

CBSE Full Form in Hindi | सीबीएसई फुल फॉर्म क्या होता है?

CBSE (CBSE Full Form) बोर्ड को उच्च शिक्षा की परीक्षा मानते हुए इसको यूनाइटेड किंगडम जैसे देशों में CBSE और IGCSE के रूप में जानते हैं ! कनाडा और संयुक्त राज्य में उन्नत प्लेसमेंट परीक्षा कहा जाता है ! ऑस्ट्रेलिया जैसे देशो में रॉबर्ट मूर ने 1928 में इस परीक्षा का सञ्चालन किया ! इसे अंग्रेजी साहित्य पर अपने पाठ्यक्रम के लिए डिजाइन करके पूरी तरीके से एक वर्गीकरण प्रणाली में विकसित हुआ ! इसमें सामान्यज्ञान एवं भाषा कौशल समेत अंगेजी को लिखने,पढ़ने एवं बोलने पर दोनों ही विषय होते हैं ! रॉबर्ट मूर ने इस परीक्षा को पहली बार पूर्ण रूप से सामने लाये थे ! मूर द्वारा न्यू यॉर्क में कोलंबिया विश्वविद्यालय में अंग्रेजी साहित्य में पढ़ाया जो मूर की परीक्षा के नाम से प्रसिद्ध हो गया ! उन्होंने गंभीर प्रश्नों मनोरंजन का स्रोत बनाकर पहेलियों की तरह उसका हल निकाल दिया ! परीक्षा लोगो को इतनी प्रिय हो गई कि वह कुछ वर्षो बाद कोलंबिया विश्वविद्यालय मूर की परीक्षा कहने लगे ! जब इसका उपयोग पहली बार न्यूयॉर्क शहर के कई स्कूलों और कालेजों के शिक्षकों ने किया था, जो अधिक अनुभवी प्रशिक्षकों के द्वारा अपने छात्रों की जगह लेने से पहले ही छात्र की लिखने की क्षमता का पता करने का एक विश्वसनीय तरीका चाहते थे। न्यूयॉर्क में कई स्कूलों के शिक्षकों ने अपने संस्करण को बढ़ाने के बजाय एक ही नाम से एक साथ परीक्षा का उपयोग करने का दाइत्व संभाला !

TCS Full Form in Hindi ICSE Full Form in Hindi
Education Full Form List SPG Full Form in Hindi

 

What is the difference between CBSE board and ICSE board? CBSE बोर्ड और ICSE बोर्ड में क्या अन्तर होता है ?

CBSE बोर्ड को भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त है। CBSE का Syllabus सैद्धांतिक होता है वहीं ICSE का Syllabus प्रैक्टिकल Knowledge पर आधारित है। इसी वजह से दोनों में से किसी भी बोर्ड में शामिल होने से पहले आपको सभी महत्वपूर्ण बातो को ध्यान करके निर्णय लेने की आवश्यकता है।

बोर्ड का अधिकार क्षेत्र की दृष्टि से व्यापक है ! राष्ट्र की भौगोलिक सीमाओं के बाहर यह फैला हुआ है। पुनर्गठन के बाद दिल्ली माध्यमिक शिक्षा बोर्ड को केन्द्रीय बोर्ड में परवर्तित कर दिया गया और इस तरह दिल्ली बोर्ड ने मान्यता प्राप्त सभी शैक्षिक संस्थाएं भी केन्द्रीय बोर्ड का एक हिस्सा बन गई। तभी संघ शासित प्रदेश जैसे -चण्डीगढ़, अण्डमान और निकोबार द्वीप समूह,अरूणाचल प्रदेश, सिक्किम राज्य अब झारखण्ड, उत्तरांचल एवं छत्तीसगढ़ के सभी स्कूलों ने भी बोर्ड के साथ अपनी सम्बद्धता हासिल कर ली है।

A TO Z FULL FORM LIST
EPDS Full Form in Hindi

 

What is the main objective of CBSE Board Full Form? CBSE Board के प्रमुख उद्देश्य क्या है ?

केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की स्थापना संबंधित उद्देश्यों की पूर्ति के लिए की गई थी :–
 जिनके माता-पिता स्थानान्तरणीय पदों पर कार्यरत हैं उन विद्यार्थियों को शैक्षिक आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए किया जाता है !

 सार्वजनिक परीक्षाएं आयोजित करने, परीक्षाओं से संबंधित कुछ शर्तें निर्धारित करने और प्रमाण-पत्र उनको प्रदान करने के लिए किया जाता है !

 शिक्षा संस्थानों में अधिक प्रभावशाली ढंग से लाभ पहुंचाना और उन विद्यार्थियों की शैक्षिक आवश्यकता की पूर्ती करना और उसके प्रति उत्तरदायी होना होता है !

 CBSE अपने कार्यो को अधिक प्रभावशाली ढंग से निष्पादित करने और विद्यालयों के प्रति अधिक संवेदी होने के कारण से बोर्ड उन्हें देश के विभिन्न भागों में क्षेत्रीय कार्यालय दिए गए हैं।

बोर्ड के क्षेत्रीय कार्यालय चेन्नई, इलाहाबाद,अजमेर,गुवाहाटी, और दिल्ली में भी स्थित हैं। विदेशो में स्थित विद्यालय, क्षेत्रीय कार्यालय दिल्ली के अंदर आते हैं। मुख्यालय, क्षेत्रीय कार्यालयों के कार्यो की देखरेख करता है ! क्षेत्रीय कार्यालयों को भी पूरे अधिकार दिए जाते हैं फिर भी निजी मामले मुख्यालय को भेजे जाते हैं। प्रशासन दिन प्रतिदिन के मामले को विद्यालयों से सम्पर्क करके परीक्षा पूर्व या उपरान्त में देने की व्यवस्था जैसे मामलों की देख-रेख क्षेत्रीय कार्यालय ही करते हैं !

अधिक जानकारी के लिए CBSE की वेबसाइट पर देखे।

FAQ…

CBSE का फुल फॉर्म क्या है ?

CBSE का फुल फॉर्म Central Board of Secondary Education होता है। CBSE को हिंदी में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड कहते है।

CBSE क्या है?

CBSE एक राष्ट्रीय स्तर का की बोर्ड परीक्षा है! जिसे केंद्र की देखरेख में होता है !

CBSE Board का गठन कब हुआ था ?

भारत में सर्वप्रथम उत्तर प्रदेश बोर्ड ऑफ हाई स्कूल एण्ड इंटरमीडिएट एजुकेशन पहला बोर्ड की स्थापना सन् 1921 में हुई थी। वैसे CBSE की स्थापना 03 नवंबर 1962 को हुई थी। CBSE के गठन की समय यह केंद्रीय बोर्ड बन गया।

CBSE बोर्ड और ICSE बोर्ड में क्या अन्तर होता है ?

CBSE बोर्ड को भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त है। CBSE का Syllabus सैद्धांतिक होता है वहीं ICSE का Syllabus प्रैक्टिकल Knowledge पर आधारित है। इसी वजह से दोनों में से किसी भी बोर्ड में शामिल होने से पहले आपको सभी महत्वपूर्ण बातो को ध्यान करके निर्णय लेने की आवश्यकता है।