SBI Full Form in Hindi / SBI Bank का फुल फॉर्म क्या होता है ?

आप यहाँ इस पोस्ट में SBI Full Form से सम्बंधित सभी जानकारी आपको मिलेंगे ! SBI Bank Full Form क्या है। SBI Bank क्या होता है।

आपने SBI Bank का नाम सुना होगा ! यह एक सरकारी बैंक है ! जिसे हम हिंदी में भारतीय स्टेट बैंक के नाम से जानते हैं ! यह एक बहुत ही प्रसिद्ध बैंक है। SBI बैंक की शुरुआत में नाम इंपीरियल बैंक ऑफ इंडिया था ! यह सभी बैंको में सर्वश्रेष्ठ बैंक है !

SBI Bank Full Form / SBI का फुल फॉर्म क्या होता है ?

SBI Full Form क्या होता है ?

 

 SBI Full Form

  State Bank of India

 

SBI का फुल फॉर्म State Bank of India होता है ! SBI को हिंदी में भारतीय स्टेट बैंक कहते है। भारतीय स्टेट बैंक का मुख्यालय मुम्बई में स्थित हैं।

What is the History of SBI Full Form? SBI फुल फॉर्म का इतिहास क्या है ?

सर्वप्रथम कलकत्ता में बैंक ऑफ़ कलकत्ता की स्थापना 2 जून 1806 की हुई थी। कुछ वर्षो के बाद बैंक ऑफ़ बंगाल का गठन 2 जनवरी 1809 को हुआ था। इस बैंक पर ब्रिटिश भारत और बंगाल सरकार दोनों का अधिपत्य था। फिर बाद में बैंक ऑफ़ मद्रास और बैंक ऑफ़ बॉम्बे की स्थापना हुई। अब ये तीनो बैंक का विलय 28 जनवरी 1921 को भारतीय शाही बैंक यानि इंपिरियल बैंक ऑफ़ इंडिया के रूप में हुआ था।

SBI Bank Full Form / SBI का फुल फॉर्म क्या होता है ?

 

When was the State Bank of India established? भारतीय स्टेट बैंक की स्थापना कब हुई ?

इंपिरियल बैंक ऑफ़ इंडिया का कार्य सिर्फ शहरों तक ही सिमित था। गांवों तक अपना कार्य काल बढ़ाने के लिए 1 जुलाई 1944 को स्टेट बैंक आफ़ इंडिया की शुरुआत की गई थी। State Bank of India भारत की सबसे पुराणी बैंको में से एक है। शुरुआत में इसकी तीन स्थानीय मुख्यालय के साथ 480 कार्यालय थी।
1 अप्रैल 1935 को आरबीआई की शुरुआत की गई थी। लेकिन इसका राष्ट्रीयकरण 1 जनवरी 1949 को किया गया था और इसका मुख्यालय मुंबई में रखा गया है। RBI के सबसे पहले गवर्नर सर ओसबोर्न स्मिथ थे।

 

SBI Full Form – State Bank of India

 

What is the function of SBI Bank (SBI Full Form) ? SBI Bank के कार्य क्या है ?

भारत में SBI (SBI Full Form)पब्लिक सेक्टर का बैंक के रूप में जाना जाता है। SBI द्वारा अपने ग्राहकों को सारी सुविधाएं और सेवाएं प्रदान करती है। जैसे की बचत खाता खोलना , FD व RD करना, होम लोन देना, पर्सनल लोन देना, क्रेडिट कार्ड, डेविट कार्ड इत्यादि और भी शामिल हैं।
अपने सभी ग्राहकों के लिए SBI डिजिटल प्लेटफार्म भी SBI YONO के माध्यम से दे रही है। जिससे की अपने ग्राहकों को सुबिधा हो। और बैंक के चक्कर लगाना न पड़े।

 

 NRC Full Form in Hindi

ICICI Full Form in Hindi

Which is the Associate Bank of State Bank of India? भारतीय स्टेट बैंक की Associate बैंक कौन -कौन सी है ?

भारतीय स्टेट बैंक (SBI Full Form) की कुल 8 Associate ब्रांच थी, जिसका स्थापना 1959 को शुरू हुआ था। जो की निम्न है।
» स्टेट बैंक ऑफ़ हैदराबाद – State Bank Of Hyderabad
» स्टेट बैंक ऑफ़ जयपुर – State Bank Of Jaipur
» स्टेट बैंक ऑफ़ बीकानेर – State Bank Of Bikaner
» स्टेट बैंक ऑफ़ त्रावणकोर – State Bank Of Travancore
» स्टेट बैंक ऑफ़ पटियाला – State Bank Of Patiala
» स्टेट बैंक ऑफ़ सौराष्ट्र – State Bank Of Saurashtra
» स्टेट बैंक ऑफ़ मैसूर – State Bank Of Mysore
» स्टेट बैंक ऑफ़ इंदौर – State Bank Of Indore

हलाकि 1 जुलाई 2017 को सभी भारतीय स्टेट बैंक के Associate Bank को भारतीय स्टेट बैंक में विलय कर दिया गया है। अब भारतीय स्टेट बैंक के कोई भी Associate Bank नहीं है।

 

 IAS Full Form in Hindi

 PCS Full Form in Hindi

 IPS Full Form in Hindi

 SDM Full Form in Hindi

 

What are the services of State Bank of India? भारतीय स्टेट बैंक की सेवाएं क्या क्या है ?

भारतीय स्टेट बैंक (SBI Full Form)की प्रमुख निम्न प्रकार की सेवाएं है।

Savings Account- बचत खाता :- State Bank of India अपने ग्राहकों को 5 प्रकार की सेविंग अकाउंट खोलने की अनुमति प्रदान करती है।

Current Account – चालू खाता :- State Bank of India अपने ग्राहकों को 8 प्रकार की करंट अकाउंट खोलने की अनुमति देता है। भारतीय स्टेट बैंक की करंट अकाउंट को आप Minimum 10000 रु. से खोल सकते है।
Home Loan – गृह ऋण :- State Bank of India ने अपने ग्राहकों के लिए कम व्याज पर होम लोन देने की सुविधा प्रदान की है।

Personal Loan – व्यक्तिगत ऋण :- State Bank of India ने अपने ग्राहकों के लिए 4 तरह के पर्सनल लोन देने की अनुमति दी है।

Gold Loan – गोल्ड लोन :- State Bank of India अपने ग्राहकों के लिए बहुत ही कम व्याज पर गोल्ड लोन देने की अनुमति देता है।

Property Loan – प्रॉपर्टी लोन :- State Bank of India अपने ग्राहकों के लिए प्रॉपर्टी के बदले 2 प्रकार के लोन देने की अनुमति देता है।

Education Loan – शिक्षा लोन :- State Bank of India के द्वारा अपने ग्राहकों के लिए 5 प्रकार के शिक्षा लोन देने की अनुमति देता है। जिसमे 1.5 करोड़ रु. तक की लोन ले सकते है।

Two Wheeler Loan – टू-व्हीलर लोन :- State Bank of India अपने ग्राहकों को 2 तरह के टू-व्हीलर लोन देने की अनुमति देता है। जिसमे ग्राहकों की आय के आधार पर EMI का भुगतान किया जाता है।

Business Loan – व्यापार ऋण :- State Bank of India अपने ग्राहकों को व्यवसाय करने के लिए आसान क़िस्त पर लोन देने की अनुमति देती है।

Car Loan -कार लोन :- State Bank of India अपने ग्राहकों को 4 तरह के लोन प्रदान करती है। जो की बहुत ही आसान क़िस्त एवं कम पर मिलता है।

Fixed Deposit – सावधि जमा :- State Bank of India अपने ग्राहकों को निश्चित जमा योजनाएं प्रदान करता है जिसमे वरिष्ठ नागरिक को अधिक व्याज मिलता है।

Recurring Deposit – आवर्ती जमा :- State Bank of India अपने ग्राहकों को 1 साल से लेकर 10 साल तक रेकरिंग डिपॉज़िट करने की सुबिधा देता है।

Credit Card – क्रेडिट कार्ड :- State Bank of India अपने ग्राहकों को क्रेडिट कार्ड की सुबिधा प्रदान करती है। जिसमे ग्राहकों को कई तरह की लाभ भी मिलता है जैसे कैशबैक, रिवॉर्ड पॉइंट, इत्यादि।

Debit Card – डेबिट कार्ड :- State Bank of India अपने ग्राहकों को डेबिट कार्ड की भी सुबिधा प्रदान करती है। जिससे ग्राहक कई तरह के लाभ भी उठाते है।

Mobile Banking – मोबाइल बैंकिंग :- State Bank of India अपने ग्राहकों को मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से बहुत सारी सुबिधा प्रदान करती है। जैसे पैसे को ट्रांसफर करना, अपने खाते की बैलेंस की जानकारी प्राप्त करना, किसी भी बिलों का आसानी से भुगतान करना, और भी सारी सुबिधा प्रदान करती है।

Net Banking – नेट बैंकिंग :- State Bank of India अपने ग्राहकों को नेट बैंकिंग की भी सुबिधा प्रदान करती है, जिसके माध्यम से ग्राहक अपने अकाउंट को खुद संचालित कर सकता है।

Customer Service – ग्राहक सेवा :- State Bank of India अपने ग्राहकों को किसी भी SBI की समस्या के लिए ग्राहक सेवा केंद्र की सुबिधा प्रदान की है। जिसमे ग्राहक SMS द्वारा या E- mail के द्वारा या टोल-फ्री नंबर के माध्यम से संपर्क कर सकते है और अपने समस्या का समाधान करवा सकते है।

अधिक जानकारी के लिए SBI Official Website पर जाये।