SIM Full Form in Hindi | SIM का फुल फॉर्म क्या होता है ?

Here in this post we will see what is SIM Full Form in Hindi, what is the meaning of SIM, what is the use of SIM, what is SIM

 

SIM Full Form क्या होता है?

 

SIM Full Form Subscriber Identity Module

SIM का फुल फॉर्म Subscriber Identity Module होता है ! SIM को हिंदी में ग्राहक पहचान मापांक कहते हैं !

SIM Full Form in Hindi | SIM का फुल फॉर्म क्या होता है ?

What is SIM Full Form? SIM क्या होता है?

SIM (SIM Full Form) एक Portable Memory कार्ड होता है, जिस कार्ड को आप किसी Mobile में डालने के बाद आप उस Mobile से Phone Call पुरे world में चाहे कही भी कर सकते है, उस सिम में टैरिफ होना चाहिए। ये हर वक्त हर जगह काम करता है जहां पर उस ग्राहक का नेटवर्क उपलब्ध होता है !

अधिकतर SIM खासतौर पर GSM नेटवर्क पर संचालित Phone में उपयोग किया जाता है। यह सिम Portable होता है ! इसका use हम किसी भी Mobile Phone में कर सकते हैं !
SIM एक International Mobile Subscriber Identity Data को सुरक्षित रखने के हिसाब से बनाया जाता है।

SIM Full Form in Hindi | SIM का फुल फॉर्म क्या होता है ?

When and who invented the SIM card? SIM Card का अविष्कार कब और किसने किया था?

सिम कार्ड (SIM Full Form) का अविष्कार सन 1991 में Giesecke & Devrient द्वारा किया गया ! सबसे पहले SIM Card की शुरुआत European Telecommunications Standards Institute द्वारा बनाया गया था !

SIM एक Electronic Circuit है, और इसकी सहायता से हम कॉल कर पाते हैं इस SIM में Network की जानकारी, फोन नम्बर, messages, और security data मौजूद होता है, और इसके अलावा कई अधिक information भी होती हैं। जिनकी जानकारी केवल SIM का code करने वालों को पूरी तरीके से होती है।

पहला SIM सन 1998 लॉन्च किया गया था ! SIM Card में तीन ऑपरेटिंग वोल्टेज होते है -3 वी, 5 वी,1.8 वी था !

SIM Full Form = Subscriber Identity Module

How does SIM work? SIM Full Form कैसे काम करता है?

जब कस्टमर SIM (SIM Full Form) का उपयोग करता है तब सिम कार्ड Application को लोड करने की अनुमति दी जाती है ! इस एप्लीकेशन SIM का उपयोग हैंडसेट या सर्वर के द्वारा संचार करते हैं !

SIM कार्ड का नेटवर्क इतना प्रभावशाली होता है कि इसके उपयोग से आदमी की पहिचान प्रमाणित की जा सकती है ! SIM डायलिंग नंबर,सेवा प्रदाता नाम,स्थानीय क्षेत्र की पहचान,आपातकालीन नंबर को संग्रहीत करता है। SIM भी कई डाटा क्षमताओं में आते हैं ! 4 -जीबी से 512 -जीबी तक सभी प्रकार के SIM स्टोरों में आसानी से मिल जाते हैं ! इनका उपयोग नेटवर्क आपरेटर के द्वारा उनके पसंदीदा नेटवर्क पर डाटा को स्टोर करने में किया जाता है !

SIM नेटवर्क स्थिति की जानकारी को संग्रहीत करता है, जो स्थान क्षेत्र पहचान से प्राप्त किया जाता है। Operator नेटवर्क को स्थान क्षेत्रों में अलग-अलग बाट दिया जाता है, प्रत्येक में एक LAI नंबर होता है। जब डिवाइस स्थान परिवर्तित करता है, तो यह नए LAI को सिम में संग्रहीत करता है ! और इसे अपने स्थान पर ऑपरेटर नेटवर्क पर वापस भेज देता है। यदि डिवाइस power cycle है, तो यह SIM से डेटा निकाल लेता है, और पहले LAI की खोज करता है।

UPHC Full Form in Hindi IQ Full Form in Hindi
LPG Full Form in Hindi RAW Full Form in Hindi
What is the SIM size? SIM काआकार क्या है ?

यदि हम बात करे तो फुल-साइज़ सिम दिखाई देने वाला पहला फॉर्म फ़ैक्टर था। यह क्रेडिट कार्ड के तरह आकार में (85.60 मिमी × 53.98 मिमी × 0.76 मिमी) के आकार का होता है। बाद में छोटे सिम को अक्सर एक पूर्ण आकार के कार्ड में किया जाता है जिससे उन्हें हटाया जा सकता है।

What is SIM card? SIM Full Form कार्ड क्या है ?

SIM (SIM Full Form) एक प्लास्टिक का टुकड़ा है जिसमे integrated एक चिप लगी होती है !इसका काम मोबाइल को read करना होता है ! सिम कार्ड में कुछ मेमोरी खाली होती है जो कि Contect और Massage को save रखती है ! SIM के बिना आप Internet का उपयोग भी नहीं कर सकते हैं ! पहले सिम का आकार काफी बड़ा था ! लेकिन फिर इसका size काम कर दिया गया ! आजकल तो mini और micro, sim आने लगे हैं !

IP Full Form in Hindi
DP Full Form in Hindi
How many types of SIM plans are there? SIM Full Form का प्लान कितने प्रकार के होते है ?

SIM (SIM Full Form) का प्लान दो प्रकार के होते है।

Prepaid Sim
Postpaid Sim

» Prepaid Sim क्या होता है:-

Prepaid Sim का मतलब है की पहले पैसा से सिम को रिचार्ज करना होगा! यानि ऐसा सिम जिसमे आपको Calling, Message या Internet की सुविधा लेने से पहले आपको रिचार्ज करवाना होता है ! तभी आप इसका लाभ उठा पाते है !

» Postpaid Sim क्या होता है:-

Postpaid SIM का मतलब है -पैसा बाद में देना होता हैं। Postpaid SIM एक ऐसा SIM होता है जिसमें Calling, Message या Internet की सुविधा का आनंद आप पहले से ले सकते हैं और बाद में महीने में एक बार आपको पैसा देना होता है!

और आपके द्वारा Used किए गए Calling, Message या Internet सेवाओं के आधार पर महीने के अंत में आपको उतना ही पैसा देना होता है। यानि आपको पूरी सेवा के बिल आएगा फिर बिल के हिसाब से भुगतान करना पड़ेगा।

SIM आपको कहाँ पर मिलती है:-

यदि आप SIM खरीदना चाहते हैं तो किसी मोबाइल की दुकान पर या जिस भी कंपनी का सिम खरीदने के इच्छुक हैं तो आप मोबाइल की दुकान पर उस कंपनी का नाम दुकानदार को बता कर वहां से सिम प्राप्त कर सकते हैं। चूँकि SIM की बहुत कंपनियां होती है जैसे Vodafone Sim, Airtel Sim, BSNL Sim, Idea Sim, Jio Sim, VI Sim इत्यादि

MIS Full Form in Hindi
NCB Full Form in Hindi
BPO Full Form in Hindi

What are the features of SIM card? SIM कार्ड की विशेषताएं क्या हैं?

SIM (SIM Full Form) कार्ड की बहुत सी विषेशताएं है:-

» SIM का साइज बहुत ही छोटा होता है जिससे हमें SIM को रखने तथा उपयोग करने में आसानी होती है।
» SIM की चोरी होने या फिर किसी कारणवश SIM खराब हो जाने की वजह से उसी नंबर की सिम दोबारा ले भी सकते हैं।
» आप एक ही सिम का उपयोग पूरे विश्व भर में आसानी से कर सकते हैं लेकिन अलग-अलग स्थानों पर SIM के अलग-अलग चार्ज लगते हैं।
» आप एक ही नंबर का उपयोग Life Time कर सकते हैं जिससे आपको नंबर बदलने की कोई दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ता हैं

अधिक जानकारी के लिए WIKIPEDIA की वेबसाइट पर जाये।

FAQ…

SIM का Full Form क्या होता है ?

SIM का फुल फॉर्म Subscriber Identity Module होता है ! SIM को हिंदी में ग्राहक पहचान मापांक कहते हैं !

SIM क्या होता है?

SIM एक Portable Memory कार्ड होता है, जिस कार्ड को आप किसी Mobile में डालने के बाद आप उस Mobile से Phone Call पुरे world में चाहे कही भी कर सकते है, उस सिम में टैरिफ होना चाहिए। ये हर वक्त हर जगह काम करता है जहां पर उस ग्राहक का नेटवर्क उपलब्ध होता है !

SIM Card का अविष्कार कब और किसने किया था ?

सिम कार्ड का अविष्कार सन 1991 में Giesecke & Devrient द्वारा किया गया ! सबसे पहले SIM Card की शुरुआत European Telecommunications Standards Institute द्वारा बनाया गया था !

SIM कैसे काम करता है ?

जब कस्टमर SIM का उपयोग करता है तब सिम कार्ड application को लोड करने की अनुमति दी जाती है ! इस एप्लीकेशन SIM का उपयोग हैंडसेट या सर्वर के द्वारा संचार करते हैं !